Madaari : a soulful movie

‘ मदारी ‘ आत्मा ( बची हो तो ) झंझोड़कर रख देने वाली फ़िल्म

वैसे तो फ़िल्मे पैसा कमाने के लिए बनाई जाती हैं , उसमें एक्टिंग की जाती हैं और थोड़ी देर मजा लेने के लिए देखी जाती हैं । ‘ सिनेमा ‘ में वह माध्यम हैं जिसका आज तक लोगों को बस उल्लू बनाने व उनको कुछ हद निकम्मे बनाने के लिये भी इसका इस्तेमाल होता रहा …

Read more‘ मदारी ‘ आत्मा ( बची हो तो ) झंझोड़कर रख देने वाली फ़िल्म

Pannalal ghosh

एक ऐसे मुरलीधर जिन्होंने 17 साल अतुल्य वाद्य ढूंढने के लिए वनवास में गुजार दिए !

एक ऐसे मुरलीधर जिन्होंने 17 साल अतुल्य वाद्य ढूंढने के लिए  वनवास में गुजार दिए !    भारतीय संगीत के खेर खान कहो या फिर सिर्फ क से लेकर सिर्फ़ ख तक का ज्ञान हो लेकिन यहां पर जो बात बताई जा रही है उसकी सुरावली आपके मन मस्तिष्क को स्पर्श करने वाली  हैं । …

Read moreएक ऐसे मुरलीधर जिन्होंने 17 साल अतुल्य वाद्य ढूंढने के लिए वनवास में गुजार दिए !

error: Content is protected !!
0 Shares
Share via
Copy link
Powered by Social Snap